रविवार, 1 जनवरी 2017

काश की ऐसी साली होती
जैसे आधी घरवाली होती
पेट से भरी पूरी सी एकदम
दिमाग से वह खाली होती

कोई टिप्पणी नहीं: