सोमवार, 22 जून 2015

मेरे दर्द का हर लम्हा जवाब मांगेगा
मेरे आंसू का हर कतरा जवाब मांगेगा
जी लूंगा ऐ जिंदगी तुझे मैं यूं ही
मेरी मौत पर जो बिखरा जवाब मांगेगा

कोई टिप्पणी नहीं: