सोमवार, 30 मार्च 2015

एक शेर

उफ ये अदा तेरी गैरों से दिल लगाने की
यूं ही कह देते दुआ क्यूं की मेरे मर जाने की

कोई टिप्पणी नहीं: