सोमवार, 30 मार्च 2015

एक शेर

वाह तो नहीं मांगी थी टूटे दिल के साज पर
यह सदा बुलंद होगी उनके इस अंदाज पर

कोई टिप्पणी नहीं: