शुक्रवार, 13 दिसंबर 2013

पत्नी रानी

पत्नी रानी पत्नी रानी
दिनभर करती हैं मनमानी
मेरी पत्नी रानी तेरी पत्नी रानी
हम सबकी पत्नी रानी

सुबह जगे से शाम ढले तक
शाम से लेकर सूर्य उगे तक
किचकिच करतीं दिलवरजानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

समय से सोना समय से जगना
समय से खाना समय से पीना
सबपर चलातीं हुकुम रानी
पत्नी रानी पत्नी रानी....

भूख लगे चाहे प्यास लगे
मन में जब अहसास जगे
नहीं सतातीं घर की महरानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

सिर की पीड़ा दिल का दर्द
बदन में अकड़न जकड़े सर्द
बन बरसें राहत का पानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

प्रेमी की सूरत थी देखी
ममता की मूरत बन बैठी
दिल की धड़कन नस का पानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

बिस्तर पर सिलवट न फूटे
कपड़ों की खूंटी जब टूटे
कभी न करती आनाकानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

भइया की अपने बड़की बहना
बनकर आई मेरे घर की गहना
नए-नए रिश्तों संग बन गई नई कहानी
पत्नी रानी पत्नी रानी....

अम्मां-बप्पा की बीमारी
भाई-बहनों की हरकारी
सभी निभातीं बड़ी सयानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

सासू मइया हुकुम डोलावयं
पिता सरीखे ससुर बुलावयं
छमछम दौड़े ले दाना-पानी
पत्नी रानी पत्नी रानी....

ननदों के है नाज उठाती
जेठ के मन को खूब सुहाती
जल-भुन जाती है जेठानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

देवर आगे-पीछे घूमे
मन की सब बातें कह झूमे
तुम ही चुनना अपनी देवरानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

पास-पड़ोस हो रिश्तेदारी
सबकी करती खातिरदारी
हर मन की याद सुहानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

बेटा-बिटिया की सरदारी
सेहत हो या पढ़ने की बारी
सबकी करतीं निगहबानी
पत्नी रानी पत्नी रानी...

कोई टिप्पणी नहीं: